लोक स्‍वास्‍थ्‍य यांत्रिकी

सिवनी जिले में 1582 आबाद ग्राम एवं 2673 बसाहटें है। लोक स्वास्थ्‍य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल व्यवस्था की जाती है। वर्तमान में 11438 हैण्डपम्प स्थापित है एवं 918 नलजल प्रदाय योजनाऐं क्रियान्वित है। ग्रामीण क्षेत्रों में सतही स्त्रोत (नदी) से विभिन्‍न ग्रामों में जल प्रदाय व्यवस्था का कार्य मध्य प्रदेश जल निगम मर्यादित भोपाल, परियोजना क्रियान्वायन इकाई सिवनी द्वारा किया जा रहा है। वर्तमान में 5 समूह जलप्रदाय योजनाऐं (झुरकी ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना, बण्डोल ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना, सिद्धघाट सकरी मोर्चा घाट ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना, संगम घाट ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना एवं पायली ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना) कार्य पूर्ण होने पर झुरकी ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत घंसौर विकासखण्ड के 15 ग्रामों में पेयजल व्यवस्था का कार्य किया गया, बण्डोेल ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत विकासखण्ड सिवनी एवं छपारा के कुल 206 ग्रामों हेतु पेयजल व्यवस्था का कार्य प्रगतिरत, सिद्धघाट सकरी मोर्चा घाट ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत विकासखण्ड धनौरा, लखनादौन एवं केवलारी के कुल 86 ग्रामों हेतु पेयजल व्यवस्था का कार्य प्रगतिरत, संगम घाट ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत विकासखण्ड केवलारी के 86 ग्रामों हेतु पेयजल व्यवस्था का कार्य प्रगतिरत एवं पायली ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत विकासखण्‍ड घंसौर, लखनादौन धनौरा एवं केवलारी के 395 ग्रामों हेतु पेयजल व्यवस्था का कार्य प्रगतिरत है, कार्य पूर्ण होने पर 788 ग्रामों में पेयजल व्यवस्‍था हो जाएगी। इसके अतिरिक्त लोक स्‍वास्‍थ्‍य यांत्रिकी विभाग में मुख्य मंत्री पेयजल प्रदाय योजना के अंतर्गत 23 ग्रामों में नलकूप आधारित योजनाओं का कार्य किया जा रहा है। इनमें से 05 योजनाऐं पूर्ण हो गई, शेष प्रगतिरत है। जनजाति क्षेत्रों में सोलरपम्प आधारित जल प्रदाय योजना अथवा सिंगल फेस पम्प आधारित जल प्रदाय योजना से पेयजल व्यवस्था का कार्य किया जा रहा है। विभाग द्वारा वर्षाकाल के पूर्व, वर्षाकाल के प्रारंभ में, वर्षाकाल के मध्य‍ में एवं वर्षाकाल समाप्ति के उपरान्त सभी पेयजल स्‍त्रोतों में (हैण्डपम्प, शासकीय एवं सार्वजनिक कूप, नलजल योजना के समस्त स्त्रोतों में) क्लोरीनेशन का कार्य किया जाता है। राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल गुणवत्‍ता निगरानी एवं अनुश्रवण कार्यक्रम के अंतर्गत विभाग द्वारा ग्राम पंचायतों को वितरित की गई फील्ड टेस्टिंग किट से पेयजल स्त्रोतों का जल परीक्षण किया जाता है। सिवनी जिले में जल परीक्षण हेतु विभागीय प्रयोगशालाऐं सिवनी, छपारा, लखनादौन एवं केवलारी में स्थापित है, जिसमें समय-समय पर सभी पेयजल स्त्रोतो का जल परीक्षण किया जाता है।