मत्स्योद्योग

मछुआ कल्याण और मत्स्य विकास विभाग ने संयुक्त रूप से 1 नवंबर 1956 को मध्य प्रदेश राज्य की अलग स्थापना के बाद से कृषि विभाग की एक इकाई के रूप में अपना काम शुरू किया। 1964 में मछुआ कल्याण और मत्स्य पालन विकास विभाग की स्वतंत्र रूप से शुरुआत के बाद से विभाग लगातार कार्य कर रहा है। जिले में मछली पकड़ने और मछली पालन व्यवसाय से जुड़े लोगों के विकास के लिए काम करना। मछली पालन कार्य उनकी आजीविका का महत्ववूर्ण भूमिका रहा है.

आई.ए.पी. योजनाअन्तर्गत बगडोगरी में मत्स्य आहार सयंत्र की स्थापना वर्ष 2015-16 मे विेकासखण्ड केवलारी जिला सिवनी में किया गया है। नवयुवक बनाथर समिति को आहार संयंत्र सोपा गया जिससे समिति अपनी लाभांश  प्राप्त कर रही है।