कृषि

जिले के ग्रामीणजनों की घरेलू निर्भरता कृषि मे होने के कारण कृषि विभाग, जिले का एक महत्वपूर्ण विभाग है। विभागीय संरचना जिला स्तर कार्यालय उपसंचालक कृषि हैं, जिसमें उपसंचालक कृषि साथ ही पांच सहायक संचालक कृषि पदस्त हैं, जिले मैं दो अनुविभगीय स्तर के कार्यालय साथ ही दो सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी कार्यालय सिवनी एवं लखनादोंन हैं ।अनुविभगीय अधिकारी कार्यालय सिवनी के अन्तर्गत चार वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय सिवनी, कुरई, बरघाट, केवलारी एवं अनुविभगीय अधिकारी लखनादोंन के अन्तर्गत वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय छपारा, लखनादोंन, घन्सोर, धनोरा आते हैं, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालयो मैं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के अधीनस्थ कृषि विकास अधिकारी एवं ग्रामिण कृषि विस्तार अधिकारी पदस्त हैं । कृषि विभाग सिवनी में एक प्रथम श्रेणी अधिकारी एवं नो द्वितीय श्रेणी अधिकारी कार्यरत है जिले में कार्यरत तृतीय श्रेणी और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की संख्या क्रमश: 117 व् 12 है ।

कृषि के क्षेत्र में नवाचार :

आत्मा तथा बायफ कन्वर्जंस के मार्गदर्शन में विगत  वर्षों में किए गए लगातार प्रयासों के फलस्वरूप  घंसौर विकासखंड (सिवनी के एक आदिवासी और दूरस्थ ब्लॉक) के ग्राम दुरजनपुर, बरेला ,गोरखपुर, अतरिया ,विनेकी कला, पनारझिर ,जमोडी ,डोभी खुद्दार गांव बगदरी में आम ,आंवला ,काजू और यूकेलिप्टस का वृक्षारोपण किया गया है। इन प्रयोगों से  प्रभावित होकर कृषकों  का फल उत्पादन की ओर रुझान बढ़ रहा है. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजना अंतर्गत  धान  का श्री पद्धिति से रोपा लगाया जा रहा है ।  कृषक कृषि विकास योजना अंतर्गत  कृषकों को रसायन मुक्त खेती के लिए प्रेरित किया जाता है ।